अपनी ट्रेडिंग यात्रा शुरू करने के लिए तैयार हैं तो आपको डीमैट खाते की आवश्यकता भी है

जब से लॉकडाउन लागू हुआ है, शेयर बाजारों में लगभग 30% की गिरावट आई है। और, वे अभी भी नए स्तरों पर पहुंच  रहे हैं - इस बार, महीने-दर-महीने। आखिरकार, कारोबार कहां रुकने वाला है! फिर भी, ये बाजार अपनी वास्तविक क्षमता से बहुत पीछे हैं क्योंकि कोविड की वजह से प्रभावी लॉकडाउन लागू है। कोई भी अनुभवी निवेशक आपको बताएगा कि यह आपके लॉन्ग (या दीर्घकालिक निवेश) को बुक करने का सही समय है।



नयी दिल्ली - हर निवेशक के सबसे अच्छे दोस्त होते हैं अंतर्दृष्टि और अच्छा मूल्यांकन। खैर, यहां हम आपको एक पर्सनलाइज्ड इनसाइट दे रहे हैं। जब कोविड-19 का प्रकोप बढ़ा तब भारतीय शेयर बाजार हर तिमाही नए उच्च स्तर पर कारोबार कर रहे थे। जैसे-जैसे प्रकोप ने हमारे देश को जकड़ा, बेंचमार्क इंडेक्स लगभग ढह गए। 23 मार्च को लॉकडाउन की घोषणा होने तक उनके मूल्य में 40% की कमी आ चुकी थी। अब, यहां हम वह जानकारी दे रहे हैं, जिसमें आपकी रुचि हो सकती है।


हालांकि, इससे पहले कि आप अपनी आस्तीन चढ़ाएं और अपनी ट्रेडिंग यात्रा शुरू करने के लिए तैयार हों, आपको डीमैट खाते की आवश्यकता होगी। यदि आपके पास यह पहले से ही नहीं है, यहां एक क्विक गाइड है कि आप इसे अपने घर बैठे-बैठे कैसे सेट कर सकते हैं। ट्रेड्स की तरह, ब्रोकर को समझदारी से चुनें: डिजिटल ब्रोकिंग फर्म (ऐप या वेब-बेस्ड) की तलाश करें जो सहज ऑनबोर्डिंग प्रक्रिया, बेस्ट ब्रोकरेज चार्ज और वैल्यू-एडेड सेवाएं प्रदान करता है। कुछ ब्रोकरेज हाउसों के पास ट्रेड्स पर जीरो ब्रोकरेज चार्ज और दूसरों पर फ्लैट रेट्स हैं। ये दोनों फेक्टर आकर्षक हैं क्योंकि वे ट्रेडिंग करते समय आपको आवश्यक कॉस्ट-एडवांटेज प्रदान करते हैं।
 
इसके अलावा, जब आप डिजिटल रूप से ट्रेड करने जा रहे हैं, यह सुनिश्चित करना आवश्यक है कि आपके पसंदीदा प्लेटफ़ॉर्म से कोई तकनीकी गड़बड़ियां नहीं हुई हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि ऐसी कोई भी गड़बड़ आपके निवेश को संकट में डाल सकती है। ब्रोकरेज फर्म में आगे देखने के लिए इनडेप्थ रिसर्च और पर्सनलाइज्ड निवेश सिफारिशें भी प्रमुख विशेषताएं हैं। खुद को रजिस्टर करें; समय ट्रेडिंग का सार है: सभी डिजिटल ब्रोकरेज फर्मों के पास ऑनलाइन कस्टमर ऑनबोर्डिंग प्रक्रिया है। डिजिटल खाता खोलने का फॉर्म भरें और पहचान और पते के प्रमाण अपलोड करें। इन केवाईसी दस्तावेजों में पैन कार्ड, आधार कार्ड, पासपोर्ट इत्यादि शामिल हैं। ब्रोकरेज फर्म भी आपकी मुश्किलों का हल अपनी हेल्पलाइन के माध्यम से करने में आपकी सहायता करती हैं।
 
सत्यापन प्रक्रिया पूरी करें: आपके द्वारा प्रस्तुत क्रेडेंशियल्स को सत्यापित करने का काम एक एक्जीक्यूटिव को सौंपा जाएगा। यह एक सरल लेकिन महत्वपूर्ण प्रक्रिया है जो फोन कॉल या ब्रोकरेज फर्म के प्रतिनिधि से फिजिकल विजिट के माध्यम से किया जा सकता है। मौजूदा परिस्थितियों को देखते हुए टेली-वेरिफिकेशन की अत्यधिक संभावना है। कुछ ब्रोकरेज फर्म शुरुआती एप्लिकेशन से एक घंटे से भी कम समय में पूरी प्रक्रिया को पूरा कर सकते हैं।


अकाउंट डिटेल्स प्राप्त करें: एक बार सत्यापित हो जाने के बाद आपके खाते को आधिकारिक रूप से शेयर ट्रेडिंग के लिए मंजूरी मिल जाएगी। आपको एक वेलकम किट प्राप्त होगी जिसमें अकाउंट डिटेल्स जैसे कि एक यूनिक आईडी और आपके खाते तक पहुंचने के लिए पासवर्ड होगा। आप व्यापार करने के लिए तैयार हैं: अंत में, यह आपका पहला ट्रेड करने का वक्त है! चूंकि आप ट्रेडिंग में नए हैं, इसलिए सुनिश्चित करें कि आप रेफरेंस मटेरियल के माध्यम से जाएं और ट्रेडिंग फंडामेंटल के वेबिनार में भाग लें। जरूरत पड़ने पर आप कई बैंक खातों को ट्रेडिंग खाते से लिंक भी कर सकते हैं।


ऐसा करने से आपको अपने टाइम-सेंसिटिव ट्रेड्स के लिए तुरंत टॉप-अप में मदद मिलती है। इस नए अकाउंट के साथ, आप निवेश की आदतों विकसित करने और बेहतर आरओआई की यात्रा पर निकले हैं। सुनिश्चित करें कि आप निवेश करते समय अनुशासित रहें और जब तक कि दुनिया लॉकडाउन से वापस आ जाए, अपने निवेश को बढ़ते देखें।