CPaaS रूट मोबाइल लिमिटेड के आईपीओ 9 सितंबर को जारी होंगे

नयी दिल्ली : देश और दुनिया के विभिन्न उद्यमों, ओवर-द-टॉप ("OTT") कंपनियों तथा मोबाइल नेटवर्क ऑपरेटर्स ("MNOs") को विभिन्न चैनलों के माध्यम से क्लाउड कम्युनिकेशन सर्विस (CPaaS) प्रदान करने वाली एक प्रमुख कंपनी, रूट मोबाइल लिमिटेड ने अपने आईपीओ जारी करने की घोषणा की है। प्रति इक्विटी शेयर ₹345 से ₹350 के प्राइस बैंड वाला यह आईपीओ 9 सितंबर, 2020 को खुलेगा और 11 सितंबर, 2020 को बंद होगा।



गौरतलब है कि रूट मोबाइल के ग्राहकों में सोशल मीडिया कंपनियों, बैंकिंग एवं वित्तीय सेवा कंपनियों, विमानन, खुदरा कारोबार, ई-कॉमर्स, लॉजिस्टिक्स, स्वास्थ्य सेवा, हॉस्पिटैलिटी और दूरसंचार क्षेत्र में दुनिया भर की बड़ी-बड़ी कंपनियां एवं संगठन शामिल हैं। एंकर इन्वेस्टर के लिए बोली की तिथि 8 सितंबर, 2020 होगी, अर्थात वे प्रस्ताव के शुरुआत की तिथि से एक कार्य दिवस पूर्व बोली लगाएंगे।


यह ऑफर "सेबी आईसीडीआर नियमन" के विनियमन 31 के साथ पठित 'प्रतिभूति संविदा (विनियमन) अधिनियम, 1957, ("एससीआरआर") के रूप में संशोधित, के नियम 19(2)(b) के अनुरूप है। यह प्रस्ताव सेबी आईसीडीआर अधिनियम के विनियमन 6(1) के अनुसार बुक बिल्डिंग प्रक्रिया के माध्यम से उपलब्ध कराया जा रहा है, जिसमें आनुपातिक आधार पर पात्र संस्थागत खरीदारों ("क्यूआईबी") ("क्यूआईबी अंश") को आवंटन के लिए ऑफर का 50% से कम नहीं उपलब्ध होगा। गौरतलब है कि हमारी कंपनी तथा विक्रेता शेयरधारक BRLMs के परामर्श से स्वनिर्णयगत आधार पर एंकर निवेशकों को क्यूआईबी के हिस्से के 60% तक का आवंटन किया जा सकता है ("एंकर निवेशक अंश")। इसमें से एक-तिहाई को घरेलू म्यूचुअल फंडों के लिए आरक्षित किया जाएगा, जो एंकर निवेशकों के प्रस्ताव मूल्य पर या उससे ऊपर घरेलू म्यूचुअल फंडों से प्राप्त वैध निविदा के अधीन है।


इसके बाद, निवल क्यूआईबी अंश (एंकर निवेशकों को छोड़कर) के 5% हिस्से को आनुपातिक आधार पर केवल म्युचुअल फंड के आवंटन के लिए उपलब्ध कराया जाएगा, और शेष क्यूआईबी अंश को सभी क्यूआईबी निवेशकों (एंकर निवेशकों के अलावा) को आनुपातिक आधार पर आवंटन के लिए उपलब्ध कराया जाएगा, जिसमें म्युचुअल फंड भी शामिल है, जो प्रस्ताव मूल्य या उससे ऊपर प्राप्त वैध निविदा के अधीन है। इसके अलावा, सेबी आईसीडीआर विनियम के अनुसार अनुपातिक आधार पर गैर-संस्थागत निविदाकर्ताओं को आवंटन के लिए निवल प्रस्ताव का 15% से अधिक नहीं उपलब्ध कराया जाएगा, तथा खुदरा व्यक्तिगत निविदाकर्ताओं के लिए निवल प्रस्ताव का 35% से अधिक नहीं उपलब्ध कराया जाएगा, जो प्रस्ताव मूल्य या उससे ऊपर प्राप्त वैध निविदा के अधीन है। अन्य सभी संभावित निवेशकों (एंकर इन्वेस्टर्स को छोड़कर) के लिए एप्लीकेशन अनुप्रयोग अवरुद्ध राशि द्वारा समर्थित ("ASBA") प्रक्रिया का उपयोग करना अनिवार्य होगा, जिसमें उन्हें संबंधित ASBA खातों का विवरण तथा अवश्य की स्थिति में यूपीआई आईडी (RIBs के मामले में) उपलब्ध कराना होगा, जिसमें SCSBs द्वारा अथवा यूपीआई के माध्यम से, जो भी लागू हो, संबंधित निविदा की राशियों को अवरुद्ध किया जाएगा। एंकर इनवेस्टर्स को ASBA प्रक्रिया के जरिए इस ऑफर में भाग लेने की अनुमति नहीं है।


कंपनी की स्थापना वर्ष 2004 में हुई थी, और 30 जून, 2020 तक कंपनी ने अपनी स्थापना के बाद से 30,150 से अधिक ग्राहकों को अपनी सेवाएं उपलब्ध कराई हैं। रोमिंग कंसल्टिंग कंपनी लिमिटेड द्वारा तैयार और जून 2017 को जारी किए गए "A2P SMS मैसेजिंग वेंडर परफॉर्मेंस रिपोर्ट-2017" के अनुसार, कंपनी को विश्व स्तर पर टियर-1 एप्लीकेशन-टू-पीयर सेवा प्रदाता के रूप में नंबर-2 की रैंकिंग दी गई है, जबकि टियर-1 वेंडर्स के बीच मूल्य-वर्धित सेवाओं के लिए कंपनी को नंबर-1 की रैंकिंग दी गई है। कंपनी के कारोबार के क्षेत्र के अंतर्गत एंटरप्राइजेज़, मोबाइल ऑपरेटर तथा अफ्रीका, एशिया- पैसिफिक, यूरोप, मिडिल-ईस्ट एवं उत्तरी-अमेरिका में ग्राहकों के लिए बिजनेस प्रोसेस आउटसोर्सिंग शामिल हैं।


कंपनी कारोबार के संचालन में उच्चतम मार्जिन और कम लागत आधार के साथ प्रीपेड और पोस्टपेड बिजनेस मॉडल के जरिए काम करती है। स्वदेशी तौर पर विकसित CPaaS प्लेटफॉर्म के दायरे का विस्तार किया जा सकता है और इसके लिए सीमित पूंजीगत व्यय की आवश्यकता होती है। वित्त-वर्ष 20 के दौरान, रूट मोबाइल ने 30.31 बिलियन से अधिक बिल लेन-देन की प्रक्रिया पूरी की, और वर्ष 2020 की समाप्त तिमाही में कंपनी ने 6.95 बिलियन से अधिक बिल लेन-देन की प्रक्रिया पूरी की।


कंपनी ने वित्त-वर्ष 2018, 2019 और 2020, और 30 जून, 2020 को समाप्त तिमाही में परिचालन से क्रमशः ₹5,049.48 मिलियन, ₹8,446.68 मिलियन, ₹9,562.52 मिलियन और ₹3,096.14 मिलियन का राजस्व अर्जित किया। कंपनी के कुछ विशेष ऋण के पूर्ण या आंशिक पुनर्भुगतान अथवा पूर्व-भुगतान; अधिग्रहण एवं अन्य रणनीतिक पहल; मुंबई में कार्यालय परिसर की खरीद; तथा सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्यों के लिए इस निर्गम से प्राप्त होने वाली कुल राशि के उपयोग का प्रस्ताव दिया है।


आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज लिमिटेड, एक्सिस कैपिटल लिमिटेड, एडलवाइज़ फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड और आईडीबीआई कैपिटल मार्केट्स एंड सिक्योरिटीज लिमिटेड को इस ऑफर के लिए बुक रनिंग लीड मैनेजर नियुक्त किया गया है, जबकि के-फिन टेक्नोलॉजीज़ प्राइवेट लिमिटेड को इस ऑफर के लिए रजिस्ट्रार नियुक्त किया गया है। RPH के माध्यम से जारी किए जाने वाले इक्विटी शेयरों को नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड ("एनएसई") और बीएसई लिमिटेड ("बीएसई") पर सूचीबद्ध करने का प्रस्ताव है।