सुसेन फ़िल्म एंटरटेनमेंट के बैनर तले बन रही लघु फ़िल्म "मटके में मौत" की शूटिंग शुरू

० संत कुमार गोस्वामी ० 

फ़िल्म के निर्माता - निर्देशक भूपेन्द्र सिंह ने बताया की फ़िल्म का निर्माण बहुत जल्दी पूरा होने के बाद फ़िल्म को ऑफिसियल तरीके से रिलीज़ किया जाएगा और समाज को एक अच्छा सन्देश दिया जाएगा। आगे बताते हुए उन्होंने कहा कि सभी कलाकारों ने बहुत ही अच्छा अभिनय किया है और यह फ़िल्म सभी को बहुत पसंद आएगी। इस तरह की संदेशवाहक फ़िल्में आगे भी बनाते रहेंगे

अलीगढ -बॉलीवुड के मशहूर पटकथा लेखक व गीतकार अवनीश राही जी द्वारा लिखी गई कहानी "मटके में मौत की शूटिंग आज अलीगढ में स्थानीय कलाकारों के साथ अलीगढ की चुनिंदा लोकेशन पर की गई। शूटिंग का शुभारम्भ गीतकार अवनीश राही जी के करकमलों द्वारा पूजा अर्चना कर शुभ मुहूर्त सभी कलाकारों व टीम के सदस्यों के साथ किया गया। फ़िल्म का उद्देश्य समाज में फैली हुई कुरीतियों को दूर करके समाज को एक नई राह दिखना है। गीतकार अवनीश राही जी ने बताया फ़िल्म समाज का आईना होती हैं और समाज सुधार के लिए इस तरह की फिल्मों की अति आवश्यकता है जिससे समाज में बदलाव लाया जा सके साथ ही उन्होंने सभी कलाकारों तथा प्रोडक्शन टीम सराहना की। 

फ़िल्म के निर्माता - निर्देशक भूपेन्द्र सिंह ने बताया की फ़िल्म का निर्माण बहुत जल्दी पूरा होने के बाद फ़िल्म को ऑफिसियल तरीके से रिलीज़ किया जाएगा और समाज को एक अच्छा सन्देश दिया जाएगा। आगे बताते हुए उन्होंने कहा कि सभी कलाकारों ने बहुत ही अच्छा अभिनय किया है और यह फ़िल्म सभी को बहुत पसंद आएगी। इस तरह की संदेशवाहक फ़िल्में आगे भी बनाते रहेंगे। इस फ़िल्म में मुख्य भूमिका में राजा राना, कप्तान भारती, आलम खान, सुसेन, संजीव निराला, आदि है फ़िल्म के सह - निर्माता प्रभु सिंह सुमन और नवनीत सागर हैं, वहीं कांसेप्ट विमला सिंह का है और फ़िल्म के सिनेमाटोग्राफर सुशील पंडित हैं। मेकअप विनय गौतम का है।शूटिंग के समय दर्शकों में काफ़ी उत्साह देखने को मिला।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जयपुर में 17 प्रदेशों के प्रतिनिधियो ने प्रभावी शिक्षा प्रणाली तथा नई शिक्षा नीति पर मंथन किया

"मुंशी प्रेमचंद के कथा -साहित्य का नारी -विमर्श"

इंडियन फेडरेशन ऑफ जनरल इंश्योरेंस एजेंट एसोसिएशन का राजस्थान रीजन का वार्षिक अभिकर्ता सम्मेलन

हिंदी के बदलते स्वरूप के साथ खुद को भी बदलने की तरफ जोर

अर्न्तराष्ट्रीय इस्सयोग समाज के साधकों द्वारा अखंड साधना भजन