आईआईएम उदयपुर ग्लोबल एफटी एमआईएम रैंकिंग 2022 में एशिया का सबसे युवा बी-स्कूल बना रहा

० संवाददाता द्वारा ० 
उदयपुरः इंडियन इन्स्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट उदयुपर ने अपने दो वर्षीय एमबीए प्रोग्राम के लिए प्रतिष्ठित एफटी मास्टर्स इन मैनेजमेंट 2022 (एफटी एमआईएम) की ग्लोबल रैंकिंग में 81वीं रैंक हासिल कर शिक्षा में अद्वितीय बेंचमार्क स्थापित किया कर दिया है। एफटी एमआईएम रैंकिंग 2022 में मैनेजमेंट एजुकेशन की टाॅप ग्लोबल कॉलेजों को सूचीबद्ध किया गया है, जिसमें टाॅप 100 में क्रमशः चार आईआईएम भी शामिल हैे - आईआईएम बैंगलोर (31 वीं रैंक), आईआईएम लखनऊ (64 वीं रैंक), आईआईएम उदयपुर (81 वीं रैंक) और आईआईएम इंदौर (89 वीं रैंक)। वर्ष 2011 में स्थापित, आईआईएम उदयपुर सभी आईआईएम में सबसे युवा बी-स्कूल है 

जिसने शीर्ष 100 रैंकिंग में जगह बनाई है। सबसे उल्लेखनीय पहलू जो आईआईएम उदयपुर को और भी अद्वितीय एवं महत्वपूर्ण बनाती है, वह यह है कि आईआईएम बैंगलोर के साथ यह देश का दूसरा आईआईएम है जो लगातार चार वर्षों से, यानी वर्ष 2019 के बाद से लगातार प्रतिष्ठित वैश्विक रैंकिंग में आ रहा है। एफटी रैंकिंग एमआईएम निम्नलिखित श्रेणियों के 16 मानदंडों पर आधारित होता हैः कैरियर प्रोग्रेशन, डाइवर्सिटी असेसमेंट, इंटरनेशनल ऑपर्चुनिटीज, प्रोग्राम असेसमेंट एवं अन्य। कैरियर सर्विस रैंक 13 के साथ कैरियर प्रोग्रेशन को सबसे अधिक वेटेज वाले मानदंडों में से एक माना जाता है। औसत वेतन में 13.2 लाख रूपये से 17.8 लाख रूपये की महत्वपूर्ण छलांग के साथ, आईआईएम उदयपुर ने 2022 में 35 प्रतिशत की भारी वृद्धि पेश की है, जो आईआईएम से स्नातक करने वाली प्रतिभाओं में इंडस्ट्रीज केे विश्वास को प्रदर्शित करता है।

उल्लेखनीय है कि आईआईएमयू वैश्विक स्तर पर मास्टर्स इन मैनेजमेंट (एमआईएम) क्यूएस वल्र्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2022 में यूनिवर्सिटी ऑफ सिडनी बिजनेस स्कूल के साथ सबसे युवा बी-स्कूल भी है। इसी तरह, प्रतिष्ठित अंतरराष्ट्रीय प्रकाशनों में प्रकाशित रिसर्च के आधार पर, यूटी डलास इंडिया रैंकिंग ने आईआईएमयू को भारत में चैथे सर्वश्रेष्ठ बिजनेस स्कूल के रूप में स्थान दिया है। एफटी ग्लोबल 2022 एमआईएम रैंकिंग उपलब्धि पर, आईआईएम उदयपुर के अध्यक्ष, पंकज पटेल ने कहा, “यह खबर सुनकर हम बेहद रोमांचित हैं। अपनी स्थापना के बाद से, आईआईएम उदयपुर ने उच्च गुणवत्ता वाली रिसर्च और भविष्य के लीडर्स बनने वाले मैनेजर्स एवं एन्टरप्रेंयूर्स के लिए ट्रांस्फॉर्मेटिव लर्निंग एक्सपीरियंस का दोहरा लक्ष्य निर्धारित किया है। ये रैंकिंग हमारे विजन 2030 की पुष्टि करती है कि आईआईएम उदयपुर एक अग्रणीय ग्लोबल मैनेजमेंट स्कूल के रूप में और अधिक मान्यता प्राप्त करेगा।

आईआईएम उदयपुर के निदेशक प्रोफेसर अशोक बनर्जी ने कहा, "मैं संस्थान के निदेशक के रूप में पदभार ग्रहण करने के बाद वैश्विक रैंकिंग की यह खबर पाकर बहुत खुश हूं। आईआईएम उदयपुर के विजन 2030 के दो प्रमुख स्तंभ उच्च क्षमता वाले अनुसंधान-केंद्रित फैकल्टी और छात्र परिवर्तन हैं। आईआईएमयू प्रत्येक छात्र के व्यक्तिगत सीखने और ट्रांस्फ़ॉर्मेटिव एक्सपीरियंस को बेहतर बनाने पर ध्यान केंद्रित करता है। आईआईएम उदयपुर के पूर्व छात्रों ने पहले ही औद्योगिक डोमेन और भौगोलिक स्थानों में अपने लिए एक विशिष्ट स्थान स्थापित कर लिया है। मुझे यकीन है कि हम जल्द ही उन्हें नेतृत्व की भूमिकाओं और अद्वितीय उद्यमशील उपक्रमों में देखेंगे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जयपुर में 17 प्रदेशों के प्रतिनिधियो ने प्रभावी शिक्षा प्रणाली तथा नई शिक्षा नीति पर मंथन किया

"मुंशी प्रेमचंद के कथा -साहित्य का नारी -विमर्श"

इंडियन फेडरेशन ऑफ जनरल इंश्योरेंस एजेंट एसोसिएशन का राजस्थान रीजन का वार्षिक अभिकर्ता सम्मेलन

हिंदी के बदलते स्वरूप के साथ खुद को भी बदलने की तरफ जोर

अर्न्तराष्ट्रीय इस्सयोग समाज के साधकों द्वारा अखंड साधना भजन