जोधपुर की महिलाओं के उत्पाद जाएगें अंतरराष्ट्रीय बाजार में : डाॅ रूमा देवी

० आशा पटेल ०                       
जोधपुर-राजस्थान ग्रामीण आजीविका विकास परिषद की ओर से एक दिवसीय महिला स्वंय सहायता समूहो से संवाद कार्यक्रम 'एक कदम उद्यमिता की ओर' चौपासनी स्थित स्वास्थ्य केंद्र के भवन में आयोजित हुआ। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि राजीविका की राज्य स्तरीय ब्रांड एंबेसडर डाॅ रूमादेवी ने स्वंय सहायता समूहो की महिलाओं को संबोधित करते हुए कहा कि जोधपुर के ग्रामीण क्षेत्रों की महिलाओ द्वारा तैयार किए गए उत्पाद अब देश-विदेश के अंतरराष्ट्रीय मंचो पर पहुंचेंगे। जिससे गांवो के कुटीर उद्योगों को बढ़ावा मिलेगा एवं महिलाएं आर्थिक रूप से मजबूत होगी।

डॉ रूमादेवी ने महिलाओ से सवांद करते हुए आगे कहा कि आप अपने प्रोडक्ट की क्वालिटी पर विशेष ध्यान रखे,जिससे आपके उत्पाद की बाजार में अलग पहचान स्थापित होगी।प्रदर्शनी का किया विजिट, मार्केटिंग के बताए टिप्स इस दौरान डाॅ रूमादेवी ने जोधपुर जिले के ग्रामीण क्षेत्रों केरू, बम्बोर, घंटियाल, खुडियाला, डांगियावास, झंवर, सालावास, आसोप, बालेसर, बावङी, मथानिया, तिंवरी सहित कुल 36 एसएचजी ग्रुपो की 250 से अधिक दस्तकार महिलाओं द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी का विजिट कर उन्हे मार्केटिंग, बाजार प्रतिस्पर्धा में आ रही समस्याओं सहित, प्रोडक्ट ब्रांडिग, पैकेजिंग, उत्पादन लागत का आकलंन, उत्पादन के उचित मूल्य के बारे में बताया एवं उनकी क्राफ्ट को बारीकी से समझा।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए राजीविका की राज्य परियोजना प्रबंधक रमणिका कौर ने कहा कि आप सभी सकारात्मक रूप से आपसी सहयोग के साथ आगे बढें, राज्य सरकार एवं राजिवीका आपकी मदद के लिए सदैव तत्पर रहेगी।कार्यक्रम में उपस्थित विशिष्ट अतिथि जोधपुर एडीएम और एसीईओ जिला परिषद गरिमा शर्मा ने स्वयं सहायता समूहो की महिलाओं के समक्ष अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि आप सभी भी डाॅ रूमा देवी से प्रेरणा लेकर अपने क्षेत्र में आगे बढे।

इस दौरान जिला परियोजना प्रबंधक तेजसिंह राठौङ ने राजीविका द्वारा किए जा रहे कार्यो का प्रतिवेदन प्रस्तुत किया।कार्यक्रम में प्रबंधक वित्त दयाशंकर माथुर, क्षमता वर्धन जिला प्रबंधक यमले खां, वित्तीय समावेशन छोटूराम कुमावत, भगवान सिंह राजपुरोहित सहित अन्य अधिकारीगण एवं सैकङो स्वयं सहायता समूहो की महिलाएं उपस्थित रही।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जयपुर में 17 प्रदेशों के प्रतिनिधियो ने प्रभावी शिक्षा प्रणाली तथा नई शिक्षा नीति पर मंथन किया

"मुंशी प्रेमचंद के कथा -साहित्य का नारी -विमर्श"

इंडियन फेडरेशन ऑफ जनरल इंश्योरेंस एजेंट एसोसिएशन का राजस्थान रीजन का वार्षिक अभिकर्ता सम्मेलन

हिंदी के बदलते स्वरूप के साथ खुद को भी बदलने की तरफ जोर

अर्न्तराष्ट्रीय इस्सयोग समाज के साधकों द्वारा अखंड साधना भजन