मध्‍य प्रदेश पर्यटन वर्केशन : पर्यटक बिना अपने काम को प्रभावित कर,ले सकेंगे पर्यटन का मजा

भोपाल - मध्‍य प्रदेश पर्यटन लोगों के बीच एक नई अवधारणा वर्केशन “काम के साथ-साथ पर्यटन” ले कर आ रहा है। इस अवधारणा से अब लोग नियमित रूप से अपने काम को बिना प्रभावित किये छुट्टियों जैसा आनंद लेने का मौका मिलेगा।



कोविड 19 महामारी के खतरे से बचने के लिए भारत समेत दुनिया भर की कंपनियॉ अपने कर्मचारियों की सेहत को ध्‍यान में रखते हुए उन्‍हें घर से काम करने (वर्क फ्रॉम होम) के मौके दे रही है, लोगों को अक्सर घर से काम करने की बात रोमांचक लगती है पर इसकी अपनी चुनौतियां हैं। सबसे बड़ी चुनौती तो घर के सदस्यों के बीच रहकर काम में फोकस करने की है। ऐसे में घर तथा काम के बीच संतुलन बनाए रखना कठिन होता है। मध्‍य प्रदेश की इस नई अवधरणा के कारण अब लोगो को यह मौका मिलेगा कि वे अपने घर या दफ्तर से नहीं बल्कि मध्‍य प्रदेश के प्रमुख पर्यटन स्‍थलों में उपलब्‍ध सर्वसुविधा युक्‍त होटल / रिज़ॉर्ट से काम करते हुए वहॉ की प्राकृतिक सुंदरता तथा पर्यटन गतिविधियों का आनंद ले सकेंगे जो निश्चित रूप से मन की शांति तथा एक नया उत्‍साह प्रदान करेगा जिससे लोगो की कार्यक्षमता तथा उनकी रचनात्‍मक्‍ता को भी बढ़ावा मिलेगा।



शुरूवाती दौर में वर्केशन हेतु व्हाइट टाइगर फ़ॉरेस्ट लॉज, (बांधवगढ़), किपलिंग कोर्ट (पेंच नेशनल पार्क), बाइसन रिट्रीट, सतना नेशनल पार्क, चंपक बंगलो (पचमढ़ी), सैलानी द्वीप रिसॉर्ट (ओंकारेश्वर) को शामिल किया गया है। मध्‍य प्रदेश के प्रमुख पर्यटन गंतव्‍यों में स्थित ये सभी होटल / रिसॉर्ट्स मनोरम दृश्यों से परिपूर्ण तथा सभी बुनियादी सुविधाओ से लैस है।साथ ही इन सभी होटल / रिसॉर्ट्स में स्वच्छता तथा सुरक्षा हेतु समस्‍त आवश्यक दिशानिर्देशों, मानदंडों और विशिष्ट प्रोटोकॉल का पालन प्राथमिक्‍ता से किया जा रहा है।