ट्रिप्स के मामले में दिल्ली-एनसीआर ऊबर के सर्वोच्च 10 बाजारों में

ऊबर भरत की पहली राईड शेयरिंग कंपनी है, जिसने 40,000 प्रीमियम सेडान में फ्लोर-टू-सीलिंग सुरक्षा स्क्रीन या सेफ्टी ‘कॉकपिट’ इंस्टॉल की हैं। साथ ही ऊबर ने बजाज के साथ उद्योग की प्रथम साझेदारी की है, जिसके तहत देश में 1 लाख ऑटो में सुरक्षा स्क्रीन इंस्टॉल की गई हैं।



नयी दिल्ली, ऊबर ने घोषणा कर बताया कि दिल्ली एनसीआर सितंबर माह में ली गई ट्रिप्स की संख्या के मामले में दुनिया के सर्वोच्च 10 बाजारों में आ गया है। दिल्ली एकमात्र भारतीय शहर है, जो सर्वोच्च 10 की सूची में आया है। इससे ऊबर के ग्लोबल पोर्टफोलियो में शहर का सामरिक महत्व प्रदर्शित होता है। यहां पर नागरिक हर हफ्ते 1 मिलियन से ज्यादा राईडस लेते हैं।


दिल्ली के नागरिक लंबे लॉकडाऊन के बाद यात्रा पुनः शुरू कर रहे हैं। ऊबर के आंकड़े प्रदर्शित करते हैं कि कार आवागमन के सबसे चहेते माध्यम के रूप में उभरी है। इसके बाद कम खर्च वाले किफायती साधन, जैसे ऑटो एवं मोटो आते हैं। अन्य दिलचस्प राईडर ट्रेंड लंबी दूरी की ट्रिप्स की संख्या में वृद्धि दिखाते हैं। सप्ताह में सबसे व्यस्त घंटे सुबह 8 बजे से 10 बजे के बीच होते हैं। दिल्लीवासी ऊबर राईड के साथ न केवल अपने सप्ताह की शुरुआत करते हैं, बल्कि सप्ताह का अंत भी ऊबर राईड के साथ करते हैं। ड्राईवर्स के लिए सोमवार एवं शुक्रवार सप्ताह के सबसे व्यस्त दिन हैं।


इस उपलब्धि के बारे में प्रभजीत सिंह, प्रेसिडेंट, ऊबर इंडिया एवं साउथ एशिया ने कहा, ‘‘हम सितंबर माह में ट्रिप्स की संख्या के मामले में ऊबर के सर्वोच्च 10 ग्लोबल बाजारों में दिल्ली को देखकर बहुत उत्साहित हैं। इससे ऊबर की व्यवसायिक वृद्धि में भारत की महत्वपूर्ण भूमिका प्रदर्शित होती है। लोगों ने फिर से सफर करना शुरू कर दिया है। अब देश की राजधानी में अर्थव्यवस्था में पुनः सुधार होने लगा है, जिससे दिल्ली व भारत में अपार संभावनाएं एक बार फिर प्रदर्शित होती हैं।’’


इससे पूर्व इस माह ऊबर ने घोषणा कर बताया था कि ऊबर ऑटो सेवा में तेजी से सुधार हो रहा है। दिल्ली में जनजीवन कोविड-पूर्व के स्तर के लगभग 80 फीसदी तक स्थापित हो चुका है, जिसके बाद चंडीगढ़ एवं जयपुर का स्थान आता है, जहां जनजीवन 50 प्रतिशत तक बहाल हो गया है। शहरों में आम जनजीवन स्थापित हो रहा है और राईडर्स की मांग बढ़ रही है, इस समय ऊबर अपने मोबिलिटी व्यवसाय की वृद्धि के लिए कम खर्च वाले किफायती उत्पादों, जैसे ऑटो एवं मोटो को प्राथमिकता दे रहा है।


सुरक्षा पिछले कुछ महीनों में सर्वोच्च प्राथमिकता है, ऊबर ने ड्राईवर्स के लिए सुरक्षा सप्लाई सुनिश्चित करने के लिए भारी निवेश किया है तथा ट्रिप के दौरान राईडर्स एवं ड्राईवर्स को सुरक्षित महसूस कराने के लिए टेक्नॉलॉजी-संचालित समाधानों का क्रियान्वयन किया है। इन समाधानों में सुरक्षा के व्यापक उपाय, जैसे गो ऑनलाईन चेकलिस्ट, राईडर्स एवं ड्राईवर्स के लिए अनिवार्य मास्क पॉलिसी, ड्राईवर्स के लिए प्रि-ट्रिप मास्क वैरिफिकेशन सेल्फी एवं सुरक्षा एसओपी पर अनिवार्य ड्राईवर एजुकेशन शामिल हैं। कंपनी ने राईडर्स व ड्राईवर्स के लिए अपनी कैंसेलेशन पॉलिसी को भी अपडेट किया है तथा यदि उनमें से कोई भी ट्रिप के लिए सुरक्षित महसूस न कर रहा हो, तो वह ट्रिप को कैंसल कर सकता है। इससे ऊबर प्लेटफॉर्म का उपयोग करने वाले हर व्यक्ति के मन में साझा जिम्मेदारी का भाव विकसित होगा।