संदेश

मस्ती की पाठशाला में महापौर ने बच्चों को सिखाया स्वच्छता का पाठ

चित्र
० आशा पटेल ०  जयपुर। नगर निगम ग्रेटर जयपुर द्वारा मस्ती की पाठशाला में सांगानेर जोन स्थित चल रहे समर कैम्प मस्ती की पाठशाला में डॉ. सौम्या गुर्जर ने बच्चों से संवाद किया और बच्चों को स्वच्छता का महत्व बताया। उन्होंने मस्ती की पाठशाला में बच्चो को सिखाये गए फायर सेफ्टी एवं अन्य कौशल शिक्षा से संबंधित जुड़े विभिन्न प्रश्न पूछे, जो हाल ही में सीखे थे। बच्चों ने उत्साहपूर्वक और सही उत्तर देकर अपनी जानकारी का प्रदर्शन किया। इस सत्र में आग लगने की स्थिति में बचाव के उपायों और सावधानियों पर विशेष ध्यान दिया गया। मस्ती की पाठशाला में महापौर ने स्वच्छता के महत्व पर बल देते हुए बच्चों को डस्टबिन के विभिन्न प्रकारों के बारे में जानकारी दी साथ ही गीला और सूखा कचरा अलग-अलग डस्टबिन में डालने की समझाईश दी और बताया कि यह प्रक्रिया शहर को स्वच्छ रखने में कितनी महत्वपूर्ण है। इस कार्यक्रम के माध्यम से महापौर ने बच्चों को एक जिम्मेदार नागरिक बनने की प्रेरणा दी और शहर को स्वच्छ और सुरक्षित बनाने की दिशा में उनके योगदान को सराहा इसी के साथ महापौर ने बच्चों के संग डांस भी किया। मालवीय नगर जोन के सामुदायिक के

इंडिया स्टोनमार्ट 2026 हेतु सीडोस व लघु उद्योग भारती के बीच हुआ एमओयू

चित्र
० आशा पटेल ०  जयपुर। इंडिया स्टोनमार्ट 2026 के 13 वें संस्करण के आयोजन के लिए राजस्थान इंटरनेशनल सेंटर में आयोजित समारोह में स्टोन मार्ट-2026 के आयोजन हेतु एमओयू पर रीको के प्रबंध निदेशक शिव प्रसाद नकाते, लघु उद्योग भारती राजस्थान के उपाध्यक्ष नटवरलाल अजमेरा एवं सीडोस के चीफ एक्जिक्यूटिव ऑफिसर मुकुल रस्तोगी ने हस्ताक्षर किए। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौड़, उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री ने की। इस अवसर पर उद्योग एवं वाणिज्य राज्य मंत्री के.के विश्नोई, अखिल भारतीय संगठन मंत्री प्रकाश चंद्र, लघु उद्योग भारती के राष्ट्रीय अध्यक्ष घनश्याम ओझा, उद्योग एवं वाणिज्य विभाग के प्रमुख सचिव एवं रीको और सीडॉस के अध्यक्ष अजिताभ शर्मा, प्रबंध निदेशक रीको, शिव प्रसाद नकाते, सीडोस के उपाध्यक्ष राकेश गुप्ता व गवर्निंग बोर्ड के पदाधिकारी व राज्य के उद्यमी उपस्थित थे।  उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने बताया कि इंडिया स्टोनमार्ट 2026 का आयोजन 5 से 8 फरवरी 2026 को जेईसीसी, सीतापुरा जयपुर में किया जाएगा। इसका उद्देश्य भारतीय पत्थर उद्योग के लिए घरेलू और विदेशी बाजारों का वि

रिलायंस जियो को मिला अंतरराष्ट्रीय ‘सीडीपी क्लाइमेट’अवार्ड

चित्र
० आशा पटेल ०  नई दिल्ली : रिलायंस जियो इन्फोकॉम लिमिटेड ने वर्ष 2022-23 के लिए ‘सीडीपी क्लाइमेट’ अवार्ड हासिल किया है। कार्बन डिसक्लोजर प्रोजेक्ट (सीडीपी) ने जियो को जलवायु परिवर्तन को थामने और कार्बन फुटप्रिंट कम करने के प्रयासों के लिए ए रेटिंग दी है। 2019 के बाद यह पहला मौका है जब जियो को यह सम्मान मिला है। भारतीय दूरसंचार कंपनी भारती एयरटेल को बी रेटिंग दी गई है। सीडीपी ए रेटिंग उन्हीं कंपनियों को देती है जो पर्यावरण के क्षेत्र में अग्रणी होती हैं। जियो के प्रवक्ता ने कहा, “हमें गर्व है कि जलवायु परिवर्तन से जुड़ा दुनिया का सबसे बड़ा अवार्ड हम जीत पाए। कार्बन फुटप्रिंट कम करने में रिलायंस जियो की लीडरशिप के विजन और प्रतिबद्धता ने महत्वपूर्ण भूमिका अदा की है।”इसके अतिरिक्त, जियो को "सीडीपी सप्लायर एंगेजमेंट" में भी ए रेटिंग मिली है। सीडीपी ने बताया कि ए रेटिंग पाने वाली कंपनियां जलवायु परिवर्तन के प्रति सबसे जागरूक और पारदर्शी होती हैं। यह रेटिंग पर्यावरण मानकों पर आधारित होती है, जिससे कंपनियों के बीच तुलनात्मक अध्ययन किया जा सकता है।

संस्कृत के प्रयोग से ही भारतीय कला तथा संस्कृति सुरक्षित हो निखर पाएगा

चित्र
० योगेश भट्ट ०  नयी दिल्ली/ देश भर में अवस्थित सीएसयू के सभी परिसरों के निदेशक तथा अन्य अधिकारियों को लेकर एक तीन दिवसीय डारेक्टर मीट का आयोजन किया गया । इसका लक्ष्य सीएसयू के निदेशकों तथा अधिकारियों के प्राशासनिक गुणवत्ता को और अधिक उन्नत बनाना है , ताकि संस्कृत को विकसित भारत के निर्माण में अधिकाधिक रुप में प्रयोग में लगाया जा सके ।  इस कार्यक्रम के मुख्य वक्ता के रुप में बोलते हुए भारतीय भाषा के अध्यक्ष ,पद्मश्री चमू कृष्ण शास्त्री ने एन.ई.पी .में संस्कृत के महत्त्व बताते हुए अपने व्याख्यान में अनुवाद प्रौद्योगिकी में सरल मानक संस्कृत हेतु व्युत्पन्न संस्कृत विशेषज्ञों की आवश्यकता की बात कही । एन.ई.पी.में जो संस्कृत को केन्द्र में रख कर भारतीय भाषाओं को बहुत ही महत्त्व दिया गया । उस दृष्टि से संस्कृत के लिए एक नये अवसर तो मिला है । लेकिन संस्कृत समाज पर उत्तरदायित्व भी बढ़ गया है । पद्मश्री शास्त्री का मानना था कि अनुवाद प्रौद्योगिकी में संस्कृत का महत्त्वपूर्ण योगदान इसलिए भी होगा कि संस्कृत के समुचित शब्दावली के प्रयोग से ही भारतीय कला तथा संस्कृति आदि का मूल तथा समन्वित स्वरूप सु

डॉ बत्रा'ज़® बालों की समस्या के लिए लेकर आए हैं सबसे उन्नत टारगेटड इलाज : एक्सोजेन

चित्र
० योगेश भट्ट ०  मुंबई- डॉ बत्रा'ज़® हेल्थकेयर एक्सोजेन के लॉन्च के साथ एक अनूठा आविष्कार लेकर आए हैं। महिलाओं तथा पुरुषों के बालों के टारगेटेड उपचार के लिए यह एक्सोसोम-आधारित इलाज है। बालों के आनुवांशिक रूप से झड़ने की समस्या का निराकरण करने के लिए एक्सोसोम-आधारित फॉर्मूलेशन लाया गया है। 200 करोड़ कोशिकाओं के एक दमदार फॉर्मूले का इस्तेमाल करके एक्सोजेन, बालों को पुन: उगाने का एक अत्याधुनिक उन्नत तरीका है। केवल तीन महीनों में ही स्पष्ट परिणाम मिलने का साक्ष्य मिला है। बालों को प्राकृतिक रूप से पुन: उगने के लिए यह स्टेम कोशिकओं को प्रेरित करता है, फॉलिकल्स को पोषण देता है, सिर की त्वचा की सूजन कम करता है और मजबूत व घने बालों के लिए रक्तसंचार को बेहतर बनाता है।  इस प्रक्रिया के दौरान सिर की त्वचा पर फैक्टर युक्त एक्सोसोम्स को छोड़ा जाता है, जोकि वहां से हटकर बालों की क्षतिग्रस्त कोशिकाओं पर टिक जाता है, गहराई से अवशोषित होकर बालों को बढ़ने तथा हील होने के लिए जरूरी पोषक तत्व पहुंचाना शुरू कर देता है। लॉन्च के बारे में अपनी राय व्यक्त करते हुए डॉ. अक्षय बत्रा, वाइस-चेयरमैन और मैनेजिंग

CMAI ने दूसरे NIGF 2024 का शानदार सफलता,आने वाले त्यौहारी सीज़न के लिए यह आशाजनक संकेत

चित्र
० योगेश भट्ट ०  नई दिल्ली : क्लोदिंग मैन्युफैक्चरर्स असोसिएशन ऑफ़ इंडिया (सीएमएआई) द्वारा आयोजित दूसरा नॉर्थ इंडिया गारमेंट फेयर (NIGF 2024) द्वारका, नई दिल्ली में यशोभूमि कन्वेंशन सेंटर (IICC) में संपन्न हुआ।  इस कार्यक्रम में 200 से अधिक प्रदर्शकों और 5450 से ज्यादा ट्रेड आगंतुकों ने अपनी प्रभावशाली उपस्थिति दर्ज की, जो गारमेंट इंडस्ट्री के लिए आगामी त्यौहारी सीज़न के लिए मजबूत सकारात्मक भावनाओं का संकेत देता है। NIGF देश भर के उत्पादकों के लिए उत्तरी भारत के रिटेलर्स, वितरकों और एजेंट्स से जुड़ने का प्रभावी प्लेटफ़ॉर्म है, जबकि रिटेलर्स एक ही छत के नीचे पूरे भारत के नए आपूर्तिकर्ताओं और ब्रैंड्स को खोजने का लाभ उठा सकते हैं। बिज़नेस नेटवर्किंग सेशन को बहुत अच्छी प्रतिक्रिया मिली, जिसमें 65 से अधिक प्रदर्शकों को पूरे भारत से आमंत्रित 22 प्रमुख एजेंट्स और वितरकों के साथ आमने-सामने मीटिंग करने का मौका मिला। प्रदर्शक विभिन्न इलाकों से आए संभावित एजेंट्स और वितरकों के सामने अपने कलेक्शन पेश कर सकें।  CMAI के अध्यक्ष राजेश मसंद ने कहा, “NIGF 2024 को मिली ज़बरदस्त प्रतिक्रिया भारतीय गारमेंट

गोवा शिपयार्ड लिमिटेड और लक्समबर्ग की जन डी नुल ग्रुप के साथ अनुबंध

चित्र
० आनंद चौधरी ०  गोवा - गोवा शिपयार्ड लिमिटेड ने लक्समबर्ग की जन डी नुल ग्रुप के साथ नेक्स्ट जनरेशन ट्रेलिंग सक्शन हॉपर ड्रेजर्स के निर्माण के लिए लक्समबर्ग में अनुबंध पर हस्ताक्षर किए हैं। इस पोत को प्लग-इन हाइब्रिड के रूप में डिज़ाइन किया गया है, जो पहले चरण में चार घंटे तक की स्वायत्तता क्षमता रखता है और विशेष रूप से छोटे बंदरगाहों में संचालन के लिए डिज़ाइन किया गया है। जीएसएल, (गोवा शिपयार्ड लिमिटेड) भारत के प्रमुख शिपबिल्डर में से एक, यूरोपीय ग्राहक के लिए ड्रेजर्स के क्षेत्र में प्रवेश कर रहा है। एक प्लग-इन हाइब्रिड के रूप में, इस पोत का पारिस्थितिकीय पदचिह्न बहुत कम होगा और पहले चरण में यह चार घंटे तक की स्वायत्तता क्षमता रख सकता है। इसके अतिरिक्त, यह यूएलईवी तकनीक (अल्ट्रा लो एमिशन वेसल) और बायो-फ्यूल पर चलने वाले यूरो 6 इंजन से सुसज्जित है। 79 मीटर लंबाई के इस नए पोत की होपर क्षमता 2000 घन मीटर है।  वर्तमान अनुबंध एक पोत के लिए है, जिसमें पहले पोत की डिलीवरी अवधि 24 महीने है, और दूसरे समान पोत के निर्माण का विकल्प भी है। नया पोत छोटे बंदरगाहों में संचालन के लिए अनुकूलित है, जै