संदेश

राष्ट्रीय लेबल वाली पोस्ट दिखाई जा रही हैं

उत्तराखंड के शहीद वीर सपूतों को श्रद्धांजलि देने के लिए कैंडल मार्च

चित्र
० योगेश भट्ट ०  नयी दिल्ली : दिल्ली की विभिन्न सामाजिक संगठनों द्वारा उत्तराखंड के शहीद वीर सपूतों जो जम्मू-कश्मीर के कठुआ में आतंकी हमले में शहीद हुए उनकी आत्मा की शान्ति के लिए मोहन गार्डन में *लाल फॉर्म से शुरू होकर **पितृ स्थल*तक कैंडल मार्च निकालकर इन वीर शहीदों को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की गई। इसमें क्षेत्र के सैकड़ों लोगों ने श्रद्धांजलि देने के लिए लगभग ढ़ाई से तीन किलोमीटर लम्बा मार्च निकाला। इस अवसर पर पश्चिमी दिल्ली की सांसद कंवलजीत सहरावत, विधायक, निगम पार्षद और बी जे पी के प्रदेश सचिव ने भी श्रद्धांजलि सभा में शिरकत की और शहीद जवानों की शहादत को याद किया।  गढ़वाल हितैषिणी सभा (पंजी) दिल्ली के प्रतिनिधि के तौर पर जय लाल नवानी, कार्यकारी उपाध्यक्ष कैंडल मार्च में शामिल हुए और उत्तराखंड के वीर सपूतों को श्रद्धांजलि अर्पित की। मोहन गार्डन क्षेत्र से श्रद्धांजलि सभा आयोजित करने वालों में मंगल सिंह रावत,संजय सिंह रावत (संजय ज्वैलर्स), रमेश नेगी, हरेंद्र सिंह रावत,दीन दयाल, नरेंद्र सिंह रावत, सुरेन्द्र सिंह कठैत,मदन फौजी (बी जे पी मंडल अध्यक्ष),पंकज असवाल एवं विनोद नेगी के अत

विधान सभा अध्यक्ष ने किया नज़र फोटो एग्जिबिशन पोस्टर का विमोचन

चित्र
० आशा पटेल ०  जयपुर। राजस्थान विधान सभा अध्यक्ष वासुदेव देवनानी ने राजस्थान फोटो फेस्टिवल के तहत विश्व फोटोग्राफी दिवस के अवसर पर होने वाली 'नजर फोटो एग्जिबिशन' के पोस्टर का विमोचन किया। इस मौके पर संसदीय कार्य मंत्री जोगाराम पटेल भी मौजूद रहे। पोस्टर का विमोचन करते हुए देवनानी ने आयोजकों को शुभकामनाएं दी। ​एग्जिबिशन के आयोजक फोटो जर्नलिस्ट संजय कुमावत ने देवनानी को बताया कि यह एक अनोखी प्रदर्शनी है,  जिसमें 12 वर्ष के किशोर से लेकर 95 वर्ष के व्यक्ति भी हिस्सा ले रहे हैं। उन्होंने बताया कि 23 से 25 अगस्त तक यह प्रदर्शनी जवाहर कला केंद्र में आयोजित होगी। इसमें 300 से अधिक तस्वीरों का प्रदर्शन किया जाएगा। ​पोस्टर विमोचन कार्यक्रम के दौरान राजस्थान विधान सभा के उप निदेशक (जनसम्पर्क) डॉ. लोकेश चन्‍द्र शर्मा, वरिष्ठ पत्रकार अरविंद पालावत, मोहन शर्मा, फोटो जर्नलिस्ट मनोज श्रेष्ठ, सत्येंद्र सिंह और दिनेश भारद्वाज मौजूद रहे।

बेटियों की शिक्षा के समर्थन में जुटी क्राई संस्था ने जगमगाया पिंक सिटी

चित्र
० आशा पटेल ०  जयपुर, जयपुर के मशहूर ऐतिहासिक स्थल पीले रंग की रोशनी से जगमगाएंगे । यह कार्यक्रम चाइल्ड राइट्स एंड यू (क्राई) संस्था द्वारा "पूरी पढ़ाई देश की भलाई "अभियान के तहत आयोजित किया जा रहा है। इस अभियान का उद्देश्य बेटियों की शिक्षा के महत्व के बारे में लोगों को जागरूक करना है। 20 और 21 जुलाई को, हवा महल, अल्बर्ट हॉल और जंतर मंतर पीली रोशनी से सजाए जा रहे हैं । बता दें यह पीला रंग क्राई संस्था का प्रतीक है। क्राई का यह अभिनव कार्यक्रम पुरातत्व एवं संग्रहालय विभाग (राजस्थान सरकार) के सहयोग से किया जा रहा है। इसका मकसद बेटियों की शिक्षा पर ध्यान आकर्षित करना है। यह क्राई के सात हफ्ते लंबे अभियान का हिस्सा है। क्राई का यह राष्ट्रीय अभियान 24 जून को शुरू किया गया था। हाल के आंकड़े बताते हैं कि भारत में सिर्फ पांच में से तीन लड़कियां ही 12वीं तक पढ़ाई पूरी कर पाती हैं। गरीबी, रीति-रिवाज और स्कूलों की कमी जैसी समस्याएं लड़कियों की पढ़ाई में बाधा डालती हैं। क्राई की क्षेत्रीय निदेशक (उत्तर) और कार्यक्रम विभाग की निदेशक सोहा मोइत्रा ने कहा कि, "बेटियों का 12वीं तक पढ़ना

राजस्‍थान का निर्यात 5 साल में डेढ़ लाख करोड़ के पार होगा,फोर्टी करेगा पूरा सहयोग - सुरेश अग्रवाल

चित्र
०आशा पटेल ०  जयपुर - राजस्‍थान के निर्यात को अंतर्राष्‍ट्रीय स्‍तर पर प्रोत्साहन के लिए फेडरेशन ऑफ राजस्‍थान ट्रेड एंड इंडस्ट्री (फोर्टी ) की ओर से इंटरनेशनल सेमिनार का आयोजन किया गया। इसमें युगांडा के ट्रेड एंड इंडस्ट्री मिनिस्‍टर डेविड बाहती, राजस्‍थान एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल सीईओ पीआर शर्मा, फोर्टी की युगांडा ब्रांच चेयरमैन मनीष काला, राजस्थानी एसोसिएशन कम्पाला (युगांडा ) की चेयरपर्सन रोहिणी काला फोर्टी संरक्षक सुरजाराम मील अध्‍यक्ष सुरेश अग्रवाल , सलाहकार आरसी गुप्‍ता , पूर्व आईएएस पुरुषोत्तम अग्रवाल, फोर्टी की जर्मनी ब्रांच के अध्‍यक्ष रमेश अग्रवाल , मुख्‍य सचिव नरेश सिंघल , गिरधारी खंडेलवाल, उपाध्‍यक्ष नीलम मित्तल और यूथ विंग अध्‍यक्ष सुनील अग्रवाल के साथ फोर्टी के सभी पदाधिकारी और सदस्‍य शामिल हुए।  पने वर्च्युअल संबोधन में युगांडा के मंत्री डेविड बाहती ने राजस्‍थान के निवेशकों को युगांडा में आमंत्रित किया और कहा कि पिछले 10 साल में भारत और युगांडा में दो सौ गुना व्‍यापार बढ़ा है, युगांडा सरकार की ओर से राजस्‍थान के निवेशक और निर्यातकों को पूरा सहयोग मिलेगा। आरईपीसी सीईओ पीआर

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को पुस्तकें भेंट

चित्र
० योगेश भट्ट ०  उ प्र - राजनिवास लखनऊ में लेखक कृष्ण कुमार ने राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को अपनी पुस्तकें प्रकृति मेरी जान एवम स्मार्ट भिखमंगा भेंट की। इस अवसर पर वसुधा सोनी और अमृतांशु सोनी भी उपस्थित थे। पुस्तकों का अवलोकन करते हुए राज्यपाल पटेल ने उनकी लेखन प्रतिभा की प्रशंसा की और लेखन क्षेत्र में अनेकानेक उपलब्धियां हासिल करने की कामना की।   लेखक कृष्ण कुमार बिहार के ऐतिहासिक स्थल चम्पारण (गांव मदारी चक मेहसी ) से हैं तथा पिछले तीन दशकों से लेखन के क्षेत्र में सक्रिय हैं साथ ही भारत सरकार के कार्मिक मंत्रालय में अधिकारी पद पर कार्यरत हैं। इनके लेख राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित होते रहते हैं।

पाइप लीकेज से बना गड्ढा दुर्घटना को दे रहा दावत

चित्र
० योगेश भट्ट ०  नई दिल्ली। पहले कई माह तक पाइप लीकेज होने से दिल्ली जल बोर्ड का लाखों लीटर पानी सड़क पर बहकर बर्बाद होता रहा। आरडब्ल्यूए मधु विहार के कई बार शिकायत के बाद लीकेज को ठीक किया गया, लेकिन इससे बने गड्ढे को नहीं ढका गया। इस कारण आए दिन इस गड्ढे में फंसकर कई वाहन दुर्घटनाग्रस्त हो रहे हैं। ऐसा सिर्फ यहां पर ही नहीं है बल्कि पूरे द्वारका में जगह-जगह जल बोर्ड द्वारा किया गया गड्ढा मिल जाएगा। इसके चपेट में आकर वाहन चालक रोजाना दुर्घटनाग्रस्त हो रहे हैं। मधु विहार आरडब्ल्यूए के प्रधान रणबीर सोलंकी ने बताया कि इस बाबत एक शिकायत दिल्ली जल बोर्ड को दे दिया गया है। द्वारका सेक्टर 3 स्थित मधु विहार की मुख्य सड़क, सेक्टर पांच के सामने बाबा प्लाईवुड और टिंबर स्टोर के पास लिकेज पाईप की मरम्मत के बाद सड़क की मरम्मत न होने से गढ़े में पानी भर गया है जिसमे गाडियां फंस जा रही हैं काफी शिकायत के बाद लिकेज मुख्य जल पाइप लाइन की मरम्मत तो कर दी गई है, परंतु सड़क की मरम्मत नहीं की गई । जिससे वहाँ आने-जाने में लोगों को काफी कठिनाई हो रही है और गाड़ियाँ फंस रही हैं।  बारिश के कारण वहाँ की जमीन

जीवन पार्क डी ब्लॉक के लोग गंदा और बदबू वाला पानी,सीवर जैसी समस्याओं को लेकर विधायक से मिले

चित्र
० योगेश भट्ट ०  नयी दिल्ली - रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन जीवन पार्क डी ब्लॉक के पदाघिकारी अपने कॉलोनी की समस्या जैसे गंदा और बदबू वाला पानी ,सप्लाई का पानी बिलकुल नहीं आना , सीवर जैसे कई समस्याओं से जनक पुरी विधान सभा के विधायक राजेश ऋषि को शिकायत पत्र देकर अवगत कराया। इस इलाके में पानी की समस्या दिन प्रति दिन बढ़ते ही जा रही है। पिछले कई महीनों से पानी बिलकुल नहीं आ रहा है। विधायक का कहना है कि हम इस विषय के ऊपर काम कर रहे है। लेकिन उपराज्यपाल जल बोर्ड को फंड रिलीज नहीं होने दे रहे है। जिसके वजह से कार्य करने में हमे बहुत असुविधा हो रहा है। दूसरा पंखा रोड आज के दिन कूड़ा के लिए डंपिंग यार्ड बनता जा रहा है जिस पंखा रोड के ऊपर प्रति दिन कई हजार गाड़ियां गुजरती है, 40 -50 फूट चौड़े सड़क के आधे हिस्से में कुडा फैला रहता है और उसके ऊपर सैकडो गाये कूड़े में मुंह मारती रहती है। जिससे वहां से गुजरने वाले को असुविधा के साथ साथ दम घोंटू बदबू और फिर जहां यहां खड़ी गायों के झुंड से कोई अनहोनी होने का हमेशा डर लगा रहता है साथ ही इस सड़क के साथ कई कॉलोनी है। जैसे जीवन पार्क, महेन्द्रा पार्क ,चाणक्य प

विकास 'सस्टेनेबल' होना चाहिए, हानिकारक नहीं"- डॉ. समित शर्मा

चित्र
० आशा पटेल ०  जयपुर। सभी उद्योगों को वॉटर न्यूट्रल और आत्मनिर्भर बनाया जाना चाहिए। वहां वर्षा जल संचयन और वेस्ट वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट्स की व्यवस्था होनी चाहिए। ऐसी प्रौद्योगिकी विकसित करने और अपनाने की आवश्यकता है, जो पानी के उपयोग को कम से कम करें। इस कदम से यह सुनिश्चित होगा कि हमारे देश में हो रहा विकास सस्टेनेबल हो और पर्यावरण के लिए हानिकारक न हो। यह बात राजस्थान सरकार के पीएचईडी एवं भूजल, सेक्रेटरी, डॉ. समित शर्मा ने कन्फेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्री (सीआईआई) द्वारा एनवायरनमेंट समिट के 7वें संस्करण में कही। जापान और इजराइल जैसे देशों का उदाहरण देते हुए डॉ. शर्मा ने कहा कि जल प्रबंधन की व्यवस्था में सकारात्मक योगदान देने की जरूरत है। उन्होंने उपस्थित लोगों से आग्रह किया कि वे राजस्थान राज्य में भूजल की भारी कमी को देखते हुए अपने घरों में भी जल आपूर्ति के दुरुपयोग और बर्बादी को रोकने का प्रयास करें। राजस्थान राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, राजस्थान सरकार के मेम्बर सेक्रेटरी विजय एन ने स्पष्ट किया कि सस्टेनेबिलिटी एक आदर्श स्थिति है, जिसके लिए समाज को प्रयास करने की जरूरत है। उन्होंने एक

केंद्रीय ‘यशस्विनी’ अभियान की शुरुआत लाभार्थियों को बांटे चेक

चित्र
० आशा पटेल ०  जयपुर | केंद्रीय सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री जीतन राम मांझी ने कहा कि हमारे देश की बेटियां उद्यम के क्षेत्र में आगे हैं। विभिन्न छोटे एवं मध्यम उद्योगों में वे सफलतापूर्वक अपनी मजबूत सहभागिता दिखा रही हैं। उनके लिए ऋण की व्यवस्था को सुगम बनाया होगा। बैंकों को भी इस दिशा में अपनी सकारात्मक भूमिका निभानी चाहिए। जयपुर के राजस्थान इंटरनेशनल सेंटर में महिला उद्यमियों के लिए ‘यशस्विनी’ अभियान का देशव्यापी शुभारंभ किया। 18 राज्यों में इस योजना को लागू कर दिया गया है। जीतन राम मांझी ने कहा कि महिला उद्यमियों को आगे बढ़ाने और उन्हें सहायता प्रदान करने के मकसद से इस अभियान की शुरुआत राजस्थान से की गई है। उन्होंने अन्य राज्यों की तुलना में राजस्थान की महिला सशक्तिकरण की सराहना भी की।‘यशस्विनी’ अभियान महिलाओं के स्वामित्व वाले अनौपचारिक सूक्ष्म उद्यमों को औपचारिक रूप देने और महिला स्वामित्व वाले उद्यमों को क्षमता निर्माण, प्रशिक्षण, हायता और सलाह प्रदान करने के लिए जागरुकता अभियानों की एक श्रृंखला है, जो देश भर में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों से जुड़ी महिलाओं को हर संभव स

भोजन वितरण कर मनाई बैंक राष्ट्रीयकरण की वर्षगाँठ

चित्र
० आशा पटेल ०  जयपुर । राजस्थान प्रदेश बैंक एम्प्लाईज यूनियन के महासचिव महेश मिश्रा ने बताया कि बैंक राष्ट्रीयकरण दिवस की 58वी वर्षगाँठ पर ऑल इण्डिया बैंक एम्पलाईज एसोसिएशन ने निजीकरण के विरोध में बैंक राष्ट्रीयकरण दिवस के रूप देशव्यापी आयोजन का आह्वान किया गया । मिश्रा ने बताया कि राजस्थान प्रदेश बैंक एम्प्लाईज यूनियन के द्वारा  बैंक राष्ट्रीयकरण दिवस आयोजन पर एसएमएस अस्पताल परिसर में मरीजो के तामीरदार व जरूरतमंद लोगो को भोजन का वितरण कर मनाया गया । मिश्रा ने बताया कि बैंक राष्ट्रीयकरण देश के आर्थिक विकास व आम जन को बैंक सुविधा की दिशा में ऐतिहासिक प्रगतिशील कदम था । आज सरकार देश के सार्वजनिक बैंकों के साथ रेल , बीमा ,दूरसंचार सहित सभी सार्वजनिक संस्थानों का निजीकरण करने पर आमादा है । बैंक निजीकरण एक प्रतिगामी कदम है जिसका एआईबीईए पुरज़ोर विरोध करते हुए सरकार से सभी निजी बैंकों का राष्ट्रीयकरण करने की माँग करती है । निजीकरण देश व आम अवाम के हित में नहीं है । मिश्रा ने बताया कि अस्पताल परिसर में भोजन वितरण अवसर पर राजस्थान प्रदेश बैंक एम्प्लाईज यूनियन के चेयरमैन आर जी शर्मा , उप महासचिव

फेडएक्स युवाओं को डिजिटल स्किल प्रोग्राम से बनाएगा सशक्त

चित्र
० योगेश भट्ट ०  नयी दिल्ली : फेडएक्‍स एक्‍सप्रेस, फेडएक्‍स कॉर्प की सब्सिडिएरी और दुनिया की सबसे बड़ी एक्सप्रेस परिवहन कंपनियों में से एक, ने भारत में डिजिटल कौशल की कमी और नौकरी संबंधी चुनौतियों को दूर करने के लिए मैजिक बस इंडिया फाउंडेशन के साथ साझेदारी की है। इस सहयोग का उद्देश्य हैदराबाद में वंचित समुदायों से लगभग 400 विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग और गणित (स्‍टेम) के स्‍टूडेंट्स का कौशल बढ़ाना है। इसमें खासतौर से महिला स्‍नातकों का नामांकन कराने को प्राथमिकता दी जाएगी। यह पहल बड़ी संख्‍या में तकनीकी प्रतिभाओं को सपोर्ट देने की भारत सरकार के रणनीतिक पहल का समर्थन करती है। इन युवाओं को अत्याधुनिक क्लाउड कंप्यूटिंग और इससे संबंधित तकनीकों के साथ ही हस्‍तांतरित किये जाने योग्‍य लाइफ और नौकरी करने योग्‍य कौशल में कुशल बनाने के लिए 75-दिनों का पाठ्यक्रम तैयार किया गया है। क्लाउड कंप्यूटिंग एक अग्रणी टेक्‍नोलॉजी ट्रेंड है जिसे व्यवसायियों के बीच तेजी से अपनाया जा रहा है। और इसी वजह से यह एक बेहद डिमांड में रहने वाला कौशल बन गया है। इसके पाठ्यक्रम को विशेषज्ञ तकनीकी और लाइफ स्किल प्रश

चित्रकला प्रतियोगिता का धमतरी छत्तीसगढ़ स्वर्णकार समाज द्वारा आयोजन

चित्र
० योगेश भट्ट ०  धमतरी। छत्तीसगढ़ स्वर्णकार समाज धमतरी के द्वारा पर्यावरण सुरक्षा विषय को लेकर एक चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। कार्यक्रम में बच्चों को जिनकी उम्र 5 वर्ष से 15 वर्ष के मध्य हो प्रतियोगिता में भाग ले सकते है। कार्यक्रम में चित्रकला से संबंधित सभी सामग्री प्रतिभागी स्वयं लाये। चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन सामाजिक भवन कोष्टापारा में 23 जुलाई तक आयोजित है।  प्रतिभागियों द्वारा बनाये गये सर्वश्रेष्ठ चित्रकारी को उसी दिन निर्णायक मंडल द्वारा निर्णय कर पुरूस्कृत किया जायेगा। निर्णायक मंडल एवं कार्यक्रम प्रभारी डॉ. राकेश सोनी, डॉ. भूपेन्द्र सोनी, शिरोमणी सोनी एवं समाज के अध्यक्ष नंदकिशोर सोनी है। नंदकिशोर सोनी, मन्नूलाल सोनी, विरेन्द्र सोनी, जगदीश सोनी, बाली सोनी, घनाराम सोनी, कमलेश सोनी, हीरालाल सोनी, दिनेश सोनी, चंद्रकुमार सोनी, पप्पू सोनी एवं समाज के सभी पदाधिकारी एवं सदस्यगण छत्तीसगढ़ स्वर्णकार समाज धमतरी।ं

आर्टिफिशल इंटेलिजेंस और मीडिया के उलझे रिश्ते

चित्र
० डॉ. संजय द्विवेदी ०  “माननीय प्रधानमंत्री हम आभारी हैं कि आप हमारे बीच आए। मेरी ऑन दी जॉब लर्निंग अब शुरू हो गई है और 2024 तक मैं देश की सबसे अच्छी जर्नलिस्ट होने की कोशिश करूंगी। उम्मीद करती हूं कि तब आपसे एक एक्सक्लूसिव इंटरव्यू करने का मौका मुझे मिलेगा। आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।” ये शब्द हैं भारत की पहली एआई बॉट एंकर सना के। आर्टिफिशनल इंटेलिजेंस के मीडिया जगत में बढ़ते इस्तेमाल की कई संभावनाएं हैं। इसी में से एक है कि आने वाले समय में देश के प्रधानमंत्री एक एआई एंकर से देश के भविष्य और योजनाओं के बारे में चर्चा करते दिखें। दरअसल आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के 'टेक्स्ट टू स्पीच' फीचर की बदौलत अब भारतीय न्यूजरूम में मशीन को इंसानी चेहरे में ढालकर खबरें पेश की जा रही हैं। पिछले साल अप्रैल के महीने में इंडिया टुडे ग्रुप ने एआई एंकर से समाचार बुलेटिन का प्रसारण शुरू किया था। लॉन्च कार्यक्रम में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में एंकर का परिचय देते हुए कहा गया था कि वह ब्राइट है, सुंदर है, उम्र का उन पर कोई असर नहीं होता है और न ही कोई थकान होती है, वो बहुत सारी भाषाओं मे

मुस्लिम और ईसाई शादियों के रजिस्ट्रेशन के मामले में कोर्ट के फैसले का स्वागत : डॉ ख़्वाजा एम शाहिद

चित्र
० संवाददाता द्वारा ०  नयी दिल्ली - दिल्ली उच्च न्यायालय ने दिल्ली सरकार को अनिवार्य विवाह पंजीकरण आदेश, 2014 के तहत मुस्लिम और ईसाई शादियों सहित विवाहों के ऑनलाइन पंजीकरण को सक्षम करने के लिए तत्काल कदम उठाने के फैसले का ऑल इंडिया एजुकेशनल मूवमेंट (एआईईएम) के अध्यक्ष व मानू यूनिवर्सिटी के पूर्व प्रो-वाईस चांसलर डॉ ख़्वाजा एम शाहिद ने स्वागत किया है। उन्होंने इस फैसले को देश के लोकतांत्रिक सामाजिक ताने बाने के लिए बहुत अहम क़रार दिया। साथ ही बताया कि हमारी संस्था एआईईएम हर साल इस तरह के मुद्दों को लेकर लीगल टीम में शामिल सुप्रीम कोर्ट एडवोकेट असलम अहमद, दिल्ली हाई कोर्ट एडवोकेट रईस अहमद व अन्य के साथ मिलकर बेदारी कार्यक्रम भी करती रहती है। गौरतलब है कि न्यायमूर्ति संजीव नरूला ने अपने फैसले में कहा कि जनता के लिए आसान प्रशासनिक प्रक्रिया सुनिश्चित करने के लिए ऐसे पंजीकरण को पोर्टल पर विकल्प उपलब्ध कराना ज़रूरी था। लेकिन 2021 में अधिकारियों द्वारा शादियों के सबंध में पहले दिए गए आश्वासन के बावजूद, दिल्ली ( विवाह का अनिवार्य पंजीकरण ) आदेश 2014 के तहत खासकर मुस्लिम पर्सनल लॉ या ईसाई पर्सनल लॉ

सार्थक मानव कुष्ठाश्रम में कुष्ठ उन्मूलन हेतु हो प्रभावी प्रयास - राज्यपाल

चित्र
० आशा पटेल ०  जयपुर। राज्यपाल कलराज मिश्र ने कहा है कि कुष्ठ रोगियों की पहचान और इलाज के साथ-साथ उनके पुनर्वास के लिए भी प्रभावी प्रयास किए जाएं। उन्होंने कहा कि साझा प्रयास के अंतर्गत सरकार और आम जन की भागीदारी हो तो कुष्ठ रोग से मुक्ति के पथ पर राष्ट्र तेजी से अग्रसर हो सकता है। उन्होंने कुष्ठ रोगियों के कौशल विकास के अधिकाधिक कार्यक्रम चलाए जाने और उन्हे आत्मनिर्भर बनाए जाने के लिए विशेष कार्यक्रम चलाने का आह्वान किया। मिश्र सार्थक मानव कुष्ठाश्रम द्वारा राजस्थान इंटरनेशनल सेंटर में आयोजित अखिल भारतीय कुष्ठ रोग उन्मूलन अधिवेशन में संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कुष्ठ रोग का इलाज जितना महत्वपूर्ण है, उतना ही महत्व इस रोग से जुड़े लोगों की सेवा करना भी है। उन्होंने कहा कि पीड़ित मानवता की सेवा के साथ कुष्ठ रोग पीडितों का पुनरोद्धार भी बड़ा धर्म है। उन्होंने कहा कि मंदिर में जाकर पूजा और यज्ञ करने से जो पुण्य प्राप्त होता है, वहीं पुण्य दीन-दुखियों की सेवा करने और उनको सम्मान से जीवन जीने के अवसर प्रदान करने से मिलता है। उन्होंने सार्थक मानव कुष्ठाश्रम की कुष्ठ रोग उन्मूलन, उनके स्वाव

सुबोध पब्लिक स्कूल में साइंस मॉडल प्रतियोगिता

चित्र
० आशा पटेल ०  जयपुर। सुबोध पब्लिक स्कूल रामबाग में एनुअल मॉडल कंपीटीशन 2024,25 साइंस एंड टेक्नोलॉजी फॉर सोसाइटी थीम पर आधारित प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है जिसमें कक्षा तीन से 12 तक विद्यार्थियों भाग ले रहे है । प्रदर्शनी के पहले दिन आईटी एंड डेली लाइफ फिजिकल साइंस के मॉडल प्रदर्शित किए गए । प्रिंसिपल कमलजीत यादव ने कहा कि हर रोज 50 से 60 मॉडल का प्रदर्शन किया जा रहा है । कुल 160 मॉडल बने हैं। मॉडल 6 थीम पर आधारित है I प्रथम दिन आईटी इन वेरियस सेक्टर थीम पर मॉडल बनाए गए तथा फिजिकल साइंस एंड इंडस्ट्री पर मॉडल बनाए गए । 18 जुलाई को बायो साइंस केमिकल साइंस एनवायरमेंटल साइंस सर और मैथमेटिक्स इन डेली लाइफ पर आधारित मॉडल प्रदर्शित किए गए । समापन के दिन 19 जुलाई को जिओ साइंसेज और कॉमर्स ट्रेड एंड इंडस्ट्रीज विषय पर विद्यार्थियों द्वारा बहुत ही अद्भूत व मॉडल प्रदर्शित किये जाएंगे । प्रिंसिपल कमलजीत यादव ने सभी विद्यार्थियों के मॉडल देखकर उनसे प्रश्नोत्तर किये और उनकी बौद्धिक सृजनता कौशलता की सराहना की । आज प्रतियोगिता का परिणाम भी घोषित होगा ।

भारत सरकार से बजट में सहकारी बैंकों ने पूँजीकरण सहायता की माँग की

चित्र
० आशा पटेल ०  जयपुर । ऑल इण्डिया कोआपरेटिव बैंक एम्पलाईज फेडरेशन के राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक चेन्नई में हाल ही संपन्न हुई। बैठक में फ़ेडरेशन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सहकार नेता सूरज भान सिंह आमेरा ने बताया कि बैठक की अध्यक्षता राष्ट्रीय अध्यक्ष तमिलनाडु से जी वाईरप्पन ने की , एआईबीईए के राष्ट्रीय महासचिव सीएच वेंकटचलम ने मुख्य अतिथि के रूप में संबोधन दिया । आमेरा ने भी कई मुद्दों को बैठक में उठाया । सहकार नेता आमेरा ने बताया कि बैठक में सहकारी बैंकिंग व्यवस्था व सहकारी साख आंदोलन को सक्षम , सुदृढ़ व पारदर्शी बनाए जाने पर विचार करते हुए देश के किसानों के हित में सहकारी बैंकों के पूँजीगत संसाधन के लिए भारत सरकार से सहकारी बैंको के लिए बजट में पुनर्पूंजीकरण सहायता का बजट प्रावधान व सहायता जारी करने की माँग की गई , भारत सरकार द्वारा हर वर्ष व्यावसायिक बैंको के लिए करोड़ों रूपये की पूँजीगत सहायता जारी की जाती है लेकिन किसानों व कृषि से जुड़े सहकारी बैंको को कोई पूँजीगत सहायता नहीं दी जा रही है जबकि सहकारी बैंकों से करोड़ों रुपये का आयकर उगाया जाता है जिससे सहकारी बैंक कमजोर हो रहे है। ब

आरडब्ल्यूए ने जल बोर्ड के मुख्य अभियंता को सौंपा ज्ञापन

चित्र
० योगेश भट्ट ०  नई दिल्ली। मॉनसून के तेज बारिश में सड़कें जलमग्न हो जाती है। इलाके में पानी की सही निकासी न होने से सड़कें पानी से लबालब रहती है। ऐसे में इलाके में खुले सीवर के ढक्कन हादसों को न्योता दे रहे हैं। द्वारका सेक्टर-3 स्थित मधु विहार आरडब्ल्यूए के प्रधान रणबीर सिंह सोलंकी ने बताया कि मधु विहार वार्ड में सैकड़ों ऐसे सीवर के ढक्कन हैं, जो टूटे हुए हैं। उनका कहना है कि मधु विहार में सात ब्लॉक हैं। इसकी देखरेख दिल्ली जल बोर्ड (डीजेबी) के हाथों है। इस बाबत कई बार स्थानीय लोगों की शिकायत पर आरडब्ल्यूए ने डीजेबी को इसकी शिकायत कर चुके हैं।  कई महीना बीत जाने के बाद भी अभी तक इन सीवरों के ढक्कन नहीं बदले गए। उन्होंने कहा कि बारीश का मौसम है। पानी से सड़के भर जाता है। इस दौरान वहां से गुजरने वाले लोगों को सीवर के टूटे ढक्कन नहीं दिखाई पड़ते, जिस कारण से दोपहिया वाहन व पैदल यात्री दुर्घटना के शिकार हो रहे हैं। इस बाबत आरडब्ल्यूए ने जल बोर्ड के मुख्य अभियंता अनिल कुमार शर्मा को एक ज्ञापन भी सौंपा है। आरडब्ल्यूए के प्रधान ने रणबीर सोलंकी ने कहा कि मधु विहार के सातों ब्लॉकों में सरकारी स

संगीता गुप्ता की प्रदर्शनी आदियोगी शिव : ए जर्नी इन कॉस्मिक इंडिगो कलानेरी आर्ट गैलरी में

चित्र
० आशा पटेल ०  जयपुर। संगीता गुप्ता की एकल प्रदर्शनी, जिसका शीर्षक आदियोगी शिव : ए जर्नी इन कॉस्मिक इंडिगो के 12वें संस्करण का उदघाटन मुख्य अतिथि जगदीश चंद्र,सीईओ, भारत24 एवं विशिष्ट अतिथि के सुब्रमण्यम,आईएएएस, एवं विशेष अतिथि चित्रकार विद्यासागर उपाध्याय एवं समाजसेवी सुधीर माथुर ने किय  पूर्व मुख्य आयकर आयुक्त और एक प्रसिद्ध अमूर्त कलाकार, कवि और फिल्म निर्माता के रूप में प्रसिद्ध, संगीता गुप्ता की जयपुर में वस्त्रों पर नील द्वारा तैयार की गई 18 कृतियों व 24 कैनवास पेंटिंग्स को कलानेरी आर्ट गैलरी प्रदर्शित किया गया। गैलरी की ओनर सौम्या विजय शर्मा ने बताया की सांगानेर-छापा कला तकनीक से प्रेरित प्राकृतिक इंडिगो पैलेट का उपयोग करके खादी कपड़े पर बनाई गई यह प्रदर्शनी, शिव-शक्ति के विभिन्न पहलुओं की पड़ताल करती है। अपनी क्रांतिकारी कलात्मक दृष्टि के माध्यम से, संगीता गुप्ता ने भगवान शिव को उनके कई प्रतीकात्मक रूपों - डमरू, त्रिशूल, तीसरी आंख, अर्धनारीश्वर रूप और विभिन्न तांडव - में अमूर्त और विचारोत्तेजक रचनाओं में प्रस्तुत किया है।  कलाकार संगीता गुप्ता ने बताया की हाल ही में उनके द्वारा त

सीएसयू की उपाधियों को डीयू के समकक्ष करने का निर्णय

चित्र
० योगेश भट्ट ०  नयी दिल्ली - केन्द्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय, दिल्ली कुलपति प्रो श्रीनिवास वरखेड़ी ने दिल्ली विश्वविद्यालय , दिल्ली के कुलपति प्रो योगेश सिंह तथा इसके विद्वत् परिषद के सदस्यों के प्रति आभार व्यक्त करते कहा है कि उनके विश्वविद्यालय की समिति जिसने केन्द्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय के विविध उपाधियों को दिल्ली विश्वविद्यालय के समकक्ष मानने के लिए अपनी अनुशंसा की थी उसे विद्वत परिषद ने अपनी स्वीकृति दे दी है ।   वस्तुत: यह निर्णय शिक्षा के क्षेत्र में एक भारत श्रेष्ठ भारत की दृष्टि से भी बहुत ही दूरगामी परिणाम वाला निकलेगा और संस्कृत के छात्र-छात्राओं को सबका साथ सबका विकास की भावना के लिए देश की शैक्षणिक गतिविधियों में काम करने का सुअवसर देगा ।  साथ ही साथ संस्कृत प्रतिभा के समान मूल्यांकन से भाषा की गुणवत्ता में भी वृद्धि भी होगी । संस्कृत पढ़ने वाले परम्परा के छात्र छात्राओं की यह एक चिर प्रतीक्षित मांग थी जो अब जाकर इसका पूरा किया जाना निश्चित रूप से संस्कृत के प्रति बढ़ती लोकप्रियता का भी सूचक है । इस निर्णय को लेकर यह भी विचार था कि अंग्रेजों ने फूट डालो और शासन करो की क