जयपुर में घर और जमीन खरीदना महंगा 1 अप्रैल से 10 प्रतिशत की बढ़ोतरी

० आशा पटेल ० 
जयपुर में अब घर और जमीन खरीदना महंगा हो गया है। नए वित्त वर्ष के साथ जयपुर में रिहायशी व वाणिज्यिक डीएलसी की दरों में 1 अप्रैल से 10 प्रतिशत की बढ़ोतरी हो गई है। डीएलसी दरें बढ़ने से अब पंजीयन और मुद्रांक शुल्क राशि भी अधिक लगेगी। स्टांप ड्यूटी और रजिस्ट्रेशन फीस का मूल्यांकन भी बढ़ी हुई दरों के अनुसार होगा। वित्त वर्ष 2023-24 में डीएलसी दरें 5 प्रतिशत बढ़ाई गई थी, जबकि इस बार से 10 प्रतिशत की वृद्धि की गई है। इस बढ़ी हुई दर से अब सी-स्कीम और एमआई रोड क्षेत्र में सबसे ज्यादा डीलएसी दर 90 हजार से 1.25 लाख रुपए और सबसे कम आमेर-जलमहल क्षेत्र में 12 हजार से 42 हजार रुपए तक होगी।

प्रॉपर्टीज के न्यूनतम मूल्य की गणना के लिए डिस्ट्रिक-लेवल कमेटी (डीएलसी) दरें तय करती हैं, उसे डीएलसी कहते हैं। इसकी 4 श्रेणियां आवासीय, वाणिज्यिक, संस्थागत और औद्योगिक हैं। किसी भी संपत्ति की डीएलसी दर वहां के स्थान, बाजार मूल्य और उपलब्ध सुविधाएं के अनुसार तय की जाती है। जगतपुरा, मॉडल टाउन, गोनर रोड, इंदिरागांधी नगर क्षेत्र में 16800 से 19650 रुपए तक डीएलसी दरें। सोडाला, नंदपुरी, हवा सडक, श्याम नगर, स्वेज फार्म इलाके में 16800 रुपए से लेकर 70 हजार रुपए तक।वैशाली नगर, हनुमान नगर, विद्युत नगर,
 डॉक्टर्स कॉलोनी, चित्रकूट क्षेत्र में 48 हजार रुपए से 65 हजार तक।

झोटवाड़ा, कालवाड़ रोड, खातीपुरा, क्षेत्र में 35 से 45 हजार तक।मुरलीपुरा, ढेहर का बालाजी क्षेत्र में 38 हजार से 40 हजार तक। अंबाबाड़ी, नया खेडा, विद्याधर नगर में 48 हजार रुपए से 70 हजार तक मानसरोवर, पृथ्वीराज नगर इलाके में 12 हजार से 48 हजार तक।सांगानेर, टोंक रोड, प्रताप नगर इलाके में 9600 रुपए से 61000 रुपए तक। आमेर रोड, जल महल इलाके में 12 हजार से 42 हजार रुपए तक आगरा रोड की कॉलोनियों में 6100 रुपए से 9600 रुपए तक की दरें।

पंजीयन मुद्रांक विभाग को सालाना कुल आय का 40 प्रतिशत अकेले जयपुर से प्राप्त होता है। जयपुर में उच्च शिक्षा, बडे अस्पताल, एयर कनेक्टिविटी की प्रदेश में सबसे अच्छी सुविधाएं हैं। इसी के चलते शहर के जगतपुरा, टोंक रोड, सांगानेर, मानसरोवर, अजमेर रोड, झोटवाड़ा, वैशाली नगर, मुरलीपुरा, सीकर रोड के अधिकतर इलाकों में प्रॉपर्टी का बाजार भाव भी ज्यादा है।डीआईजी स्टांप-3 जयपुर अयूब खान ने बताया- नए वित्त वर्ष से संशोधित डीएलसी की बढ़ी हुई 10 प्रतिशत दरों को लागू किया जा रहा है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

"मुंशी प्रेमचंद के कथा -साहित्य का नारी -विमर्श"

गांधी जी का भारतीय साहित्य पर प्रभाव "

बेफी व अरेबिया संगठन ने की ग्रामीण बैंक एवं कर्मियों की सुरक्षा की मांग

प्रदेश स्तर पर यूनियन ने मनाया एआईबीईए का 79वा स्थापना दिवस

वाणी का डिक्टेटर – कबीर