डियाजियो इंडिया ने स्किल काउंसिल फॉर पर्सन्स विद डिसएबिलिटी (SCPwD) के साथ एमओयू पर हस्ताक्षर किए

० योगेश भट्ट ० 
बैंगलुरू : डियाजियो इंडिया (यूनाईटेड स्पिरिट्स लिमिटेड) ने अपने ‘लर्निंग फॉर लाईफ’ कार्यक्रम के अंतर्गत 300 पर्सन्स विद डिसएबिलिटी (PwD) को प्रशिक्षित करने के लिए स्किल काउंसिल फॉर पर्सन्स विद डिसएबिलिटी (SCPwD) के साथ एक मैमोरेंडम ऑफ अंडरस्टैंडिंग पर हस्ताक्षर किया है। इस कार्यक्रम में NAB (नेशनल एसोसिएशन फॉर द ब्लाइंड) कर्नाटक के वरिष्ठ सदस्यों और उद्योग के सदस्यों ने भी भाग लिया। 
यह अभियान समावेशिता और विविधता लाने की डियाजियो इंडिया की प्रतिबद्धता का हिस्सा है, जो डियाजियो के सोसायटी 2030: स्पिरिट ऑफ प्रोग्रेस के लक्ष्य का मुख्य स्तंभ है। भारत में यह आवासीय प्रशिक्षण कार्यक्रम SCPwD से संबद्ध प्रशिक्षण केंद्रों में सर्टिफाईड प्रशिक्षकों और परीक्षकों द्वारा चलाया जाएगा। विद्यार्थियों को बिज़नेस एवं हॉस्पिटलिटी सेक्टर में विभिन्न भूमिकाओं का प्रशिक्षण दिया जाएगा ताकि उत्पादकता बढ़ाकर कौशल की कमी को दूर किया जा सके और वो कार्यबल में प्रवेश कर सकें।

डियाजियो इंडिया की एमडी एवं सीईओ, हिना नागराजन ने कहा, ‘‘एक जीवंत और विस्तृत कार्यबल का निर्माण करने के उद्देश्य से हमें स्किल काउंसिल फॉर पर्सन्स विद डिसएबिलिटी के साथ अपनी साझेदारी का विस्तार करने की खुशी है। इस अभियान की शुरुआत हमने पिछले साल अपने ‘लर्निंग फॉर लाईफ’ प्रोग्राम में पीडब्लूडी समुदाय को शामिल करने के साथ की थी, ताकि उन्हें रोजगार की बाधाओं को दूर करने में मदद दी जा सके। इस साल हम अपनी इस प्रतिबद्धता को आगे बढ़ा रहे हैं और भारत में सही संसाधनों, कौशल एवं रोजगार के अवसरों की एक समान उपलब्धता प्रदान करने के लिए इस कार्यक्रम का विस्तार करके सस्टेनेबल वृद्धि को बढ़ावा दे रहे हैं।’’

रविंद्र सिंह, सीईओ, स्किल काउंसिल फॉर पर्सन्स विद डिसएबिलिटी (SCPwD) ने कहा, ‘‘हमें डियाजियो इंडिया के साथ साझेदारी करने की खुशी है, जिनकी समावेशिता और विविधता की प्रतिबद्धता अनुकरणीय है। पिछले साल हमने डियाजियो इंडिया के ‘लर्निंग फॉर लाईफ’ कार्यक्रम के अंतर्गत 100 पर्सन्स विद डिसएबिलिटीज़ को प्रशिक्षित किया था। इस कार्यक्रम की सफलता ने हमें इस विशेष रूप से निर्मित कार्यक्रम का विस्तार करने के लिए प्रोत्साहित किया, जो हॉस्पिटलिटी के कौशल में प्रशिक्षण देकर रोजगार के अवसर बढ़ाने पर केंद्रित है।’’

इस साल डियाजियो इंडिया के ‘लर्निंग फॉर लाईफ’ कार्यक्रम द्वारा 100 विद्यार्थियों के पहले बैच का प्रशिक्षण पूरा होगा। 300 विद्यार्थियों के दूसरे बैच में दृष्टिहीन, अल्पदृष्टि वाले, एवं बोलने एवं सुनने में असमर्थ लोग शामिल होंगे। लर्निंग और स्किलिंग संभव बनाने के लिए इस अनुकूलित कार्यक्रम में विशेष लर्निंग मॉड्यूल और असिस्टेड टेक्नोलॉजी सहित साईन लैंग्वेज के इंस्ट्रक्टर्स शामिल हैं।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

"मुंशी प्रेमचंद के कथा -साहित्य का नारी -विमर्श"

गांधी जी का भारतीय साहित्य पर प्रभाव "

बेफी व अरेबिया संगठन ने की ग्रामीण बैंक एवं कर्मियों की सुरक्षा की मांग

प्रदेश स्तर पर यूनियन ने मनाया एआईबीईए का 79वा स्थापना दिवस

वाणी का डिक्टेटर – कबीर